Sunday, January 7, 2018

थोड़ा देर  से  ही सही पर सर्वप्रथम आप सभी को नव वर्ष की ढेर सारी शुभकामाएं। आपके जीवन का ये वर्ष पूर्ण  रूप से खुशियों से भरा हो।  ईश्वर आप सभी की सारी मनोकामएं पूर्ण  करे। 

           कुछ दिनों पहले अपने कुछ विचारों की अभिव्यक्ति की थी पर आप सबकी कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी तो लगा की शायद सब मुझे भूल गए।  और भूले भी क्यों न मै गायब ही ऐसे हो गयी थी।  पर क्या करती बताइये वक्त जैसे भाग रहा था।  बेटा  दो साल का हो गया इस बीते 27 दिसंबर को।  बस उसी में ही गुम हो गयी थी।

    पर कहते हैं न पुराने मिलने और जानने वालो का ख़याल वक्त दिलाता है।  तो ये बात सही साबित हुयी।  अब खुद के लिए वक्त नहीं मिलता है बिल्कुल।  पूरा दिन बेटे के साथ ही बीतता  है।  अभी वो थोड़ा सो गया तो सोचा की मौके का फायदा उठाऊँ।  और आप सबको अपनी याद दिलाऊं।  थोड़ी पुरानी हो गयी हूँ।  पर आज भी उम्मीदों और सपनो से भरी हूँ।  और आप सबको बहुत याद करती हूँ। ज़िन्दगी में उतार चढाव आ रहे हैं पर मज़े ले रही हूँ इनके भी।  साफ़ सीधे रस्ते पसद किसको आते हैं।  हाँ कभी कभी निराश हताश हो जाती हूँ क्यूंकि  जीवन के उतार चढ़ाव कुछ ज़्यादा ही हो गए है। .पर फिर ये सोचती हूँ की शायद इतने सख्त सफर के बाद ही सुन्दर बाग़ देखने को मिले। .
   खैर चलिए मेरी राम कहानी तो चलती रहेगी।  आप सभी बस आपने आशीर्वाद बनाये रखें। .
                                           नमस्कार।
  

No comments:

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...