Saturday, August 20, 2011

मेरा सपना पूरा हुआ !

                   



                                   
                                                         बचपन से लेकर आज तक मेरे मन में हमेशा ये मलाल रहा था कि आज़ादी कि लड़ाई में मैं अपना योगदान नहीं दे पाई थी पर आज कि परिस्थितियों में मुझे ऐसा लगता है कि शायद मेरा ये सपना पूरा हो जायेगा | हो सकता है कि इस मिशन मैं उतना एक्टिव पार्टिसिपेशन ना कर पाऊँ पर इंटरनेट की सहायता से  कुछ ना कुछ योगदान तो दे ही रही हूँ |

                 पर एक अफ़सोस है , अफ़सोस इस बात का कि आज कि इस पीढ़ी असल में देश के मोल को समझ ही नहीं पायी है |  वो ये समझ ही नहीं पाई है कि उन्हें ये आज़ादी आखिर मिली कैसे है | कितने लोगों ने अपनी जाने दिन हैं तब जाकर वो आज खुली हवा में साँस ले रहे हैं | वरना आज भी वो शायद किसी गोरे के जूते साफ़ कर रहे होते | आज़ादी की  उस जंग में  शायद उनके अपने शहीद नहीं हुए हैं , तभी वो इस बात का अंदाज़ा नहीं लगा पाते की देश असल में होता क्या है | उनके लिए भारत का मतलब सिर्फ किसी फॉर्म में नागरिकता का कॉलम भरने तक ही सीमित है |  उन्हें जो मिल गए उसी में खुश हैं , अपनी तरफ से इस देश को कुछ देना ही नहीं चाहते | 
               भारत में आई आई एम , आई आई टी से पढ़ लिखकर वो उन्ही गोरों के साथ काम करने में फक्र महसूस करते है जिन्होंने हमें लूटा था |  चले जाते हैं ये देश छोड़ कर गैर मुल्कों में |समझ नहीं आता ये कैसी पीढ़ी है ?  जो तरक्की के तरीके अपने मुल्क से सीखती है और तरक्की करती किसी और की है | 

                     देश में इस वक्त चल रही जन लोकपाल की बयार ने कहीं ना कहीं थोडा सुकून तो दिया ही है | आज अरसे बाद हम कही ना कहीं फिर से एक हो रहे हैं | शायद इस बात से हमारी इस नयी पीढ़ी पर कोई असर पड़े और  फिर एक बार देश में भगत सिंह , राजगुरु , सुखदेव , रानी लक्ष्मीबाई , दुर्गा भाभी जैसे क्रांतिकारी चेहरे दिखाई दें | 
         देश में हो रही इस नयी क्रांति के मिशन में शामिल होकर  मेरा तो वो बरसों पुराना सपना पूरा हो गया | और मुझे इस बात की भी पूरी उम्मीद है की असल में ये क्रांति ही देगी हमें असल आज़ादी |

                                       वंदे मातरम , वंदे मातरम , वंदे मातरम |
                                                      

2 comments:

: केवल राम : said...

मेरा तो वो बरसों पुराना सपना पूरा हो गया | और मुझे इस बात की भी पूरी उम्मीद है की असल में ये क्रांति ही देगी हमें असल आज़ादी |

काफी हद तक आपकी बातें सभी के लिए प्रेरणादायक हैं ...आपका ही नहीं हम सबका यह सपना पूरा हुआ ......!

Meri Soch said...

sach emi hum sabka sapna pura ho raha hai or hoga, please sabse appeal hai is andolan mei yogdaan de

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...